HomeAdivasi Dailyआदिवासी राजस्थान के एक मंत्री को ब्लड सैंपल क्यों भेज रहे हैं

आदिवासी राजस्थान के एक मंत्री को ब्लड सैंपल क्यों भेज रहे हैं

राजस्थान के बांसवाड़ा सांसद राजकुमार रोत सहित राज्य के कई आदिवासी नेताओं ने शिक्षामंत्री मदन दिलावर को चेतावनी दी है कि वे अपना ब्लड सैंपल दिलावर को भेज रहे हैं. पढ़िए पूरा विवाद क्या है.

राजस्थान में भारत आदिवासी पार्टी सांसद राजकुमार रोत ने अपना ब्लड सैंपल राज्य के शिक्षा मंत्री मदन दिलावर के घर भेजने का ऐलान किया है. इसके अलावा राजकुमार रोत ने मदन दिलावर को चेतावनी दी है कि राज्य के सभी आदिवासी परिवार अपना ब्लड सैंपल दिलावर के घर भेजेंगे.

राजकुमार रोत ने शिक्षामंत्री दिलावर से कहा है कि वे डीएनए चेक करने की मशीन का इंतज़ाम रखे. इसके अलावा रविवार को राजकुमार रोत के समर्थन में आदिवासी समुदाय के लोगों ने राज्य की राजधानी जयपुर में एक बड़ा प्रदर्शन भी किया.

जयपुर में प्रदर्शन

विवाद की पृष्ठभूमि

राजस्थान के बांसवाड़ा से चुने गए सांसद राजकुमार रोत और राज्य के शिक्षा मंत्री मदन दिलावर के बीच बहस और विवाद की शुरूआत राजकुमार रोत द्वारा इंटरव्यू में कही गई एक बात से हुई है. राजकुमार रोत ने अपने इंटरव्यू में कहा कि आदिवासी को हिंदू नहीं माना जा सकता. क्योंकि आदिवासी धर्मपूर्वी है. यानि जब दुनिया में कोई भी धर्म नहीं था तब से आदिवासी है.

आदिवासी के अपने रीति रिवाज और धार्मिक विश्वास हैं. उनके इंटरव्यू पर प्रतिक्रिया देते हुए राज्य के शिक्षा मंत्री मदन दिलावर ने कहा कि अगर वे हिंदू नहीं है, तो उनके डीएनए की जांच करा लेंगे.

इन दोनों बयानों के बाद बीजेपी और आदिवासी नेताओं के बीच बयानबाज़ी शुरू हो गई.

मदन दिलावर द्वारा दिए गए बयान पर राजकुमार रोत ने तंज कसते हुए कहा कि मंत्री जी आपको मानसिक जांच करने की जरूरत है.

आदिवासी हिंदू नहीं है 

राजस्थान के बांसवाड़ा के सांसद ने इंटरव्यू में कहा कि मैं हिंदू नहीं हूं. आदिवासी और हिंदू धर्म अलग-अलग है. उन्होंने आगे कहा कि हिंदू धर्म के अपने रीति रिवाज है और आदिवासी समुदाय के अपने रीति रिवाज है.

जब उनसे यह कहा गया कि उनका नाम राजकुमार भी हिंदू धर्म से जुड़ा हुआ है. तो उन्होंने जवाब में कहा कि किस ग्रंथ में यह लिखा गया है कि राजकुमार नाम हिंदू धर्म से जुड़ा हुआ है.

राजकुमार रोत ने कहा कि हम ना ही हिंदू धर्म मानते है और ना ही ईसाई धर्म मानते हैं.

इसके अलावा उन्होंने चुन्नीलाल गरासिया का उदाहरण देते हुए कहा कि उन्होंने भी अपने नॉमिनेशन फॉर्म में धर्म कॉलम में हिंदू धर्म नहीं चुना है. चुन्नीलाल गरासिया बीजेपी पार्टी के नेता और राज्य सभा के सदस्य है.

राजकुमार द्वारा दिए गए इस बयान के बाद उन्हें सोशल मीडिया में खूब ट्रोल किया गया. जिसके बाद राजस्थान के शिक्षा मंत्री ने सवाल पूछते हुए कहा कि अगर राजकुमार रोत हिंदू नहीं है, तो उनका डीएनए टेस्ट करवा लेंगे.

इसके अलावा उन्होंने कहा कि जो लोग खुद को हिंदू नहीं मानते हैं. हमारे यहां कुछ लोग वंशावली देखते हैं, ऐसे लोगों को वहां चेक करवा देंगे. शिक्षा मंत्री मदन दिलावर के डीएनए टेस्ट वाले बयाने पर राजकुमार रोत ने कहा की मंत्री जी को मानसिक जांच कराने की जरूरत है.

उन्होंने शिक्षा मंत्री से यह भी पूछा कि उन्होंने 6 महीने तक शिक्षा मंत्री के रूप में आदिवासी छात्र-छात्राओं के लिए आजतक क्या किया है. राजकुमार रोत ने मदन दिलावर को तंज कसते हुए कहा कि दिलावर जिस समाज से आते हैं, उस समाज के लिए उन्होंने कुछ नहीं किया है. उन्होंने आगे कहा, “ आदिवासी समाज आने वाले समय में आपको करारा जवाब देगा.” 

आदिवासी समुदायों में धार्मिक पहचान का मुद्दा काफ़ी अहम बन रहा है. कई राज्यों में आदिवासी यह मांग कर रहे हैं कि जनगणना के फॉर्म में आदिवासी धर्म का कॉलम भी जोड़ा जाना चाहिए. क्योंकि जनगणना में जो आदिवासी खुद को ईसाई या किसी अन्य धर्म से नहीं जोड़ते हैं तो उन्हें हिंदू धर्म का मान लिया जाता है. 

इसके अलावा झारखंड, पश्चिम बंगाल और ओडिशा के आदिवासी अपने लिए अलग सरना धर्म को मान्यता देने की मांग कर रहे हैं.

1 COMMENT

  1. Native aboriginal agrarian and artisan people of India were worshipers of supreme cosmic energy and components & powers of Mother nature .They were worshipers of native mountains, rivers, flora and fauna etc etc. Their culture and traditions are different. Actually, it is “Prakrit Puja Dharma ” of native Adivasi people of India. This is known as Adivasi Sarna Dharma and may be by other name in different parts of ancient India. Later transformed into Buddhism and Hindu Dharma (Quite different from Vedic or so-called Sanatan Brahmin Dharma).Term Hindu was first started to be used by Persian and Arabian traders for native aboriginal people of India, derived from Indus river and Indus valley civilization( Ancient civilization of Adivasi native aboriginal people of India in north west side of India & in and around Indus river valley.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments