वाघाड़ी गाँव में सुरेखा के हाथ से बना केकड़ा लाजवाब था

0
27

महाराष्ट्र के पालघर ज़िले की डहाणू तहसील में एक छोटा सा गाँव है वाघाड़ी. इस गाँव में तीन आदिवासी समुदायों के लोग रहते हैं. ये तीन समुदाय वारली, कोंकणा और कोली मल्हार. इन तीनों ही समुदायों के रीति रिवाजों में थोड़ा थोड़ा फ़र्क़ है.

इन समुदायों की भाषा भी अलग अलग है. हालाँकि तीनों ही समुदायों के लोग एक दूसरे की भाषा को समझ लेते हैं. इसी गाँव के एक वारली परिवार से हमारी मुलाक़ात हुई. यह परिवार दरअसल कारीगरों और कलाकारों का परिवार है.

इस परिवार के लोग वारली पेंटिंग के अलावा यहाँ के आदिवासी समुदाय की रोज़मर्रा की ज़िंदगी से लेकर उनके सांस्कृतिक प्रतीकों को खिलौनों या शो पीस का रूप देते हैं. इन कलाकारों से हमारी लंबी बात हुई.

यह बातचीत आप जल्दी ही देख और पढ़ पाएँगे. लेकिन आज देखिए कि इस परिवार ने कितने प्रेम से हमारी टीम के लिए खाना बनाया. खाना बेहद ख़ास था जिसे सुरेखा ने पकाया था. सुरेखा ने हमारी टीम के लिए केकड़ा पकाया था.

आप पूरा एपिसोड उपर लगे वीडियो में देख सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here