47 साल की डॉक्टर रेणुका ने जीता एनिग्मा मिसेज एशिया का खिताब

इस उपलब्धि से खुश डॉक्टर रेणुका ने सफलता का श्रेय अपने परिवार और मित्रों को दिया है. उन्होंने बताया कि अब वे मिसेज यूनिवर्स की तैयारी कर रही हैं. इस क्षेत्र के शुरुआती दिनों को साझा करते हुए रेणुका केरकेट्टा ने कहा कि मॉडलिंग शुरू से ही पैशन रहा.

0
26

छत्तीसगढ़ के सरगुजा की रहने वाली डॉक्टर रेणुका केरकेट्टा (Dr Renuka Kerketta) ने एनिग्मा मिसेज एशिया (Enigma Mrs India) का खिताब अपने नाम कर लिया है. अब वे मिसेज यूनिवर्स की तैयारी में जुट गई हैं. रेणुका केरकेट्टा इसके पहले मिसेज सरगुजा और मिसेज छत्तीसगढ़ भी रह चुकी है. उनकी इस उपलब्धि से उनके परिजनों सहित शहरवासियों में हर्ष का माहौल है.

अंबिकापुर के होलीक्रॉस अस्पताल में चिकित्सक डॉक्टर रेणुका की इस उपलब्धि से पूरा परिवार काफी खुश है. उनके पति फ्रांसिस मास और भाई ने कहा कि रेणुका ने प्रदेश का नाम रोशन कर दिया है.

एनिग्मा इवेंट मैनेजमेंट की तरफ से अंतरराष्ट्रीय पेजेंट मिसेज एशिया प्रतियोगिता थाईलैंड के पटाया शहर में आयोजित किया गया था. यह प्रतियोगिता 17 से 19 अगस्त तक आयोजित थी, जिसमें देश-विदेश के कई प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया. बेहतर प्रदर्शन आधार पर डॉक्टर रेणुका केरकेट्टा ने सभी 12 प्रतिभागियों को पछाड़ते हुए एनिग्मा मिसेज एशिया खिताब पर कब्जा कर लिया.

मूल रूप से छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले के कुसमी रतासिली जैसे छोटे से गांव की रहने वाली हैं. आदिवासी अंचल से निकलकर इतनी बड़ी सफलता हासिल करना मामूली बात नहीं है. 47 साल की उम्र में उन्होंने इस कारनामे को कर दिखाया.

इस उपलब्धि से खुश डॉक्टर रेणुका ने सफलता का श्रेय अपने परिवार और मित्रों को दिया है. उन्होंने बताया कि अब वे मिसेज यूनिवर्स की तैयारी कर रही हैं. इस क्षेत्र के शुरुआती दिनों को साझा करते हुए रेणुका केरकेट्टा ने कहा कि मॉडलिंग शुरू से ही पैशन रहा.

उन्होंने बताया कि एनिग्मा की तरफ से अंतरराष्ट्रीय ओपन सौंदर्य प्रतियोगिता थाईलैंड के पटाया में आयोजित हुई थी, जिसमें देश-विदेश की प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया. हालांकि रेणुका ने सभी को पछाड़ते हुए इस खिताब पर कब्जा कर लिया.

रेणुका की इस सफलता में उनके पति फ्रांसिस बराबर के भागीदार रहे. वे मूल रूप से बेल्जियम के रहने वाले हैं और सालों से भारत में रहकर समाज सेवा कर रहे हैं, जिसमें उनका साथ पत्नी रेणुका भी दे रही हैं. पेशे से डॉक्टर होने के साथ ही पति के साथ समाज सेवा के कामों से भी जुड़ी है. उन्होंने बताया कि समाज सेवा के लिए साल 2021 में आयोजित मैनपाट महोत्सव में सीएम भूपेश बघेल के हाथों सम्मानित भी किया जा चुका है.

उन्होंने कहा कि आदिवासी महिलाओं के फीचर्स अलग तरह के होते हैं लेकिन कोई भी नेगेटिव सोच आपकी सफलता को बाधित कर सकती है. इसलिए अपनी पर्सनालिटी को निखारकर सबके सामने पेश करना चाहिए और अपनी तुलना किसी से नहीं करनी चाहिए. आप सपने देखें और उसे पूरा करने की कोशिश करें.

आखिर में  रेणुका केरकेट्टा ने युवाओं को मॉडलिंग टिप्स भी दिए. उन्होंने कहा कि कभी किसी की नकल कर पहचान बनाने की कोशिश न करें. जैसे हैं, वैसे ही खुद को प्यार करें और मान-सम्मान दें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here