High Alert : झारखंड के गाँव में पहुँचे 21कोरोना पॉज़िटिव, डेल्टा वेरियेंट से पीड़ित हो सकते हैं

इन 21 लोगों में 2 से 12 साल के 8 बच्चे भी शामिल हैं, जो कोरोना पॉज़िटिव पाए गए हैं. इन सभी 21 लोगों को फ़िलहाल गड़वा के ज़िला अस्पताल में दाखिल करा दिया गया है. प्रशासन ने दावा किया है कि इन लोगों के संपर्क में आए बाक़ी सभी लोगों को भी आइसोलेट कर दिया गया है.

0
292

झारखंड के एक गाँव को हाई अलर्ट (High Alert) पर रखा गया है. दरअसल यह गाँव एक बड़े ख़तरे में पड़ गया है. यहाँ पिछले दो दिनों में 21 कोरोना पॉज़िटिव लोग पहुंचे हैं.

यह भी आशंका है कि लोग कोरोना वायरस के डेल्टा वेरीयेंट (Delta Variant ) से संक्रमित हो सकते हैं.

इन लोगों के बारे में प्रशासन ने बताया है कि ये इसी गाँव के रहने वाले हैं. ये सभी लोग मज़दूरी के लिए मध्य प्रदेश गए थे. 

इन 21 लोगों में 2 से 12 साल के 8 बच्चे भी शामिल हैं, जो कोरोना पॉज़िटिव पाए गए हैं. इन सभी 21 लोगों को फ़िलहाल गड़वा के ज़िला अस्पताल में दाखिल करा दिया गया है. प्रशासन ने दावा किया है कि इन लोगों के संपर्क में आए बाक़ी सभी लोगों को भी आइसोलेट कर दिया गया है. 

इस गाँव को हाई अलर्ट पर रखने की एक ख़ास वजह है. वजह है कि ये मज़दूर जिन कोयला खादानों में काम कर रहे थे, वहाँ पर कोरोना वायरस का डेल्टा पल्स वेरियेंट पाया गया है.

यह बताया गया है कि वहाँ से लौटे मज़दूरों में से शुरूआत में एक ही मज़दूर में कोरोना वायरस के लक्षण नज़र आए थे. प्रशासन का कहना है कि यह भी हो सकता है कि बाक़ी लोगों को इसी व्यक्ति से वायरस फैला हो. 

हालाँकि प्रशासन ने सभी सावधानी बरतने का दावा किया है कि लेकिन इस आशंका से इंकार नहीं कर रहा है कि इन मज़दूरों की वजह से गाँव में और भी लोगों में इंफ़ेक्शन फैल सकता है.

झारखंड के अतिरिक्त स्वास्थ्य मुख्य सचिव अरूण कुमार सिंह ने मीडिया को बताया है कि फ़िलहाल इस गाँव में कोरोना वायरस से पीड़ित लोगों की कुल संख्या 21 ही है. 

झारखंड में औपचारिक आँकड़ों के अनुसार कोरोना वायरस की दूसरी लहर में अभी तक कम से कम 5126 लोगों की मौत हो चुकी है. राज्य में पिछले कुछ समय से यह घातक लहर कमज़ोर पड़ने के संकेत मिले थे. 

लेकिन एक ही गाँव में 21 मामले मिलने से राज्य का प्रशासन सकते में है. प्रशासन का कहना है कि इन मज़दूरों में से एक मज़दूर का रेलवे स्टेशन पर सैंपल लिया गया था.

यह सैंपल पॉज़िटिव पाया गया. इसके बाद उनके पूरे परिवार का टेस्ट किया गया. इस टेस्ट में उनके परिवार के सभी लोग पॉज़िटिव पाए गये. उनके साथ लौटे दूसरे मज़दूरों का सैंपल भी लिया गया और उनमें भी कोरोना वायरस पाया गया. 

झारखंड सरकार का कहना है कि राज्य की स्वास्थ्य मशीनरी स्थिति पर पैनी नज़र रखे हुए हैं. यह भी बताया गया है कि अगर ज़रूरी समझा गया तो इन मज़दूरों के सैंपल आगे की जाँच के लिए भुवनेश्वर भी भेजा जा सकता है. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here