मेदारम जतारा में कोविड मामलों पर कड़ी नज़र

स्थिति को ध्यान में रखते हुए, स्वास्थ्य अधिकारियों ने जतारा में आने वाले लोगों का टेस्ट करने के लिए कई शिविर स्थापित किए हैं.

0
140

एशिया के सबसे बड़े जनजातीय त्योहारों में से एक, सम्मक्का सरलम्मा जतारा से पहले मुलुगु जिले के मेदारम गांव में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है. जतारा साइट पर 4 फरवरी से अब तक किए गए एक सर्वेक्षण में अधिकारियों ने 105 लोगों को कोविड पॉजिटिव पाया है. कुल 2600 लोगों का सर्वेक्षण किया गया था.

यह रोज के स्वास्थ्य बुलेटिन में दिखाए गए कोविड-19 संख्या से कहीं ज़्यादा है. पिछले सात दिनों में अकेले मुलुगु जिले में 116 मामले सामने आए हैं. स्थिति को ध्यान में रखते हुए, स्वास्थ्य अधिकारियों ने जतारा में आने वाले लोगों का टेस्ट करने के लिए कई शिविर स्थापित किए हैं.

“हमने जतारा स्थल और उसके आसपास 35 शिविर लगाए हैं. इनमें हम आने वाले दुकानदारों और भक्तों का परीक्षण कर रहे हैं. हमने जिले के अंदर आने वाले सभी पॉइंट्स पर भी 40 शिविर स्थापित किए हैं, ताकि वारंगल, कोठागुडेम आदि से आने वाले लोगों का रास्तों पर ही टेस्ट किया जा सके,” डॉ अल्लम अप्पैया, डीएमएचओ, मुलुगु ने बताया.फिलहाल जिले में 495 सक्रिय कोविड-19 मामले हैं.

डॉ अप्पैया ने यह भी कहा कि बुखार सर्वेक्षण से अधिकारियों को रोज के मामलों पर नजर रखने और जरूरी उपाय करने में मदद मिलेगी.

इस बीच, स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने कहा कि अगर मास्क ठीक से पहना जाएगा तो इस बात की संभावना कम है कि जतारा से कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी होगी.

डाक से मिल सकता है जतारा प्रसाद

मंत्री ए इंद्रकरन रेड्डी ने सोमवार को यह घोषणा की कि डाक विभाग सम्मक्का सरलम्मा जतारा से देश भर के भक्तों को उनके दरवाजे पर प्रसाद पहुंचाएगा. यह सेवा 12 से 22 फरवरी तक उपलब्ध रहेगी.

भक्त 200 ग्राम गुड़, कुमकुम और पसुपु के प्रत्येक पैकेट के लिए 225 रुपये का भुगतान करके मी सेवा या टी ऐप-फोलियो पर प्रसाद बुक कर सकते हैं. मंत्री ने कहा कि आरटीसी पार्सल सेवाओं के तहत प्रसाद बुक करने वालों से दूरी के आधार पर शुल्क लिया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here