बिरसा मुंडा मेमोरियल पार्क का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदी

पीएम मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग जरिए कार्यक्रम में शामिल होंगे. इसके अलावा राज्यपाल रमेश बैस, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और केंद्रीय आदिवासी मामलों के मंत्री अर्जुन मुंडा रांची में व्यक्तिगत रूप से इस कार्यक्रम में शामिल होंगे.

0
128

रांची के पुराने जेल परिसर में बनाए गए बिरसा मुंडा मेमोरियल जेल पार्क का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15 नवंबर को वर्चुअली नई दिल्ली से उद्घाटन करेंगे. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी समारोह में शामिल होंगे.

पार्क 200 साल पुरानी रांची सेंट्रल जेल और उसके आसपास बनाया गया है. इसी जेल में बिरसा मुंडा जिन्हें भारत के सबसे बड़े क्रांतिकारियों में से एक माना जाता है कि 9 जून, 1900 को ब्रिटिश कैद में मृत्यु हो गई थी.

दरअसल केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बिरसा मुंडा की जयंती 15 नवंबर को ‘जनजातीय गौरव दिवस’ के रूप में घोषित करने को मंज़ूरी दे दी है. केंद्र सरकार का उद्देश्य जनजातीय गौरव दिवस के माध्यम से आदिवासी क्रांतिकारियों की वीरता का जश्न मनाना है. वहीं झारखंड 15 नवंबर को अपना राज्य दिवस मनाता है, जो आदिवासी क्रांतिकारी बिरसा मुंडा की जयंती है.

वहीं 2013 में परिकल्पित राज्य शहरी विकास की सहायक झारखंड अर्बन इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कंपनी (JUIDCO) द्वारा 26 करोड़ रुपये की लागत से केंद्रीय जनजातीय मामलों के मंत्रालय के संरक्षण में पार्क का निर्माण किया गया है.

शहरी विकास विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर कहा, “पीएम मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग जरिए कार्यक्रम में शामिल होंगे. इसके अलावा राज्यपाल रमेश बैस, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और केंद्रीय आदिवासी मामलों के मंत्री अर्जुन मुंडा रांची में व्यक्तिगत रूप से इस कार्यक्रम में शामिल होंगे. राज्य के आदिवासी मामलों के मंत्री चंपई सोरेन, रांची के सांसद संजय सेठ, रांची के विधायक सीपी सिंह और रांची की मेयर आशा लकड़ा भी इस कार्यक्रम में शामिल होंगे.”

वर्तमान पार्क को हेमंत सोरेन ने 2013 में अपने पहले कार्यकाल के दौरान पुरानी जेल की बहाली के लिए चुना था. बाद में जब 2014 में बीजेपी सत्ता में आई तो तत्कालीन सीएम रघुबर दास के कार्यकाल के दौरान एक संग्रहालय की स्थापना का निर्माण शुरू हुआ. कई मौकों पर इसे रोका गया.

पुराने जेल भवन को बहाल करने, संग्रहालय की स्थापना और परिसर के भूनिर्माण के लिए तीन अलग-अलग एजेंसियों को लगाया गया था. जेल भवन का जीर्णोद्धार जिसमें संग्रहालय होगा 2019 में पूरा हुआ.

पार्क का मुख्य आकर्षण वहां स्थापित की जा रही भगवान बिरसा मुंडा की 25 फीट ऊंची प्रतिमा होगी. हिंदी, अंग्रेजी, मुंडारी समेत अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में शहीदों की जीवनी बतायी जाएगी.

वहीं जेल परिसर के एक हिस्से को संग्रहालय के रूप में परिवर्तित किया गया है. संग्रहालय में बिरसा के अलावा झारखंड के 10 आदिवासी क्रांतिकारियों की मूर्तियां भी होंगी. लाइट एंड साउंड शो होंगे और देखने आने वालों को आदिवासी नायकों के संक्षिप्त वृत्तचित्र दिखाए जाएंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here