‘कांग्रेस आदिवासियों के इतिहास की रक्षक है’, बांसवाड़ा में बोले राहुल गांधी

कांग्रेस नेता ने देश को एकजुट करने और जोड़े रखने की बात कही, और कहा कि भाजपा की विचारधारा विभाजन करने की है. उन्होंने कहा कि देश में दो विचारधाराओं के बीच लड़ाई है.

0
48

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने राजस्थान के बांसवाड़ा जिले में आदिवासियों से संपर्क साधा. सोमवार को बांसवाड़ा में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने लोगों को याद दिलाया कि यूपीए सरकार ही आदिवासी समुदायों के लिए वन अधिकार अधिनियम लाई थी.

उन्होंने कहा, “हम आपके इतिहास की रक्षा करते हैं. हम आपके इतिहास को दबाना या मिटाना नहीं चाहते. जब यूपीए सरकार सत्ता में थी, हम आपके जल, जंगल और जमीन की रक्षा के लिए एक ऐतिहासिक कानून लाए थे.”

राहुल गांधी ने अपनी पार्टी के समावेशी स्वभाव और भाजपा के अमीरों के प्रति लगाव के बीच अंतर की भी बात कही. उन्होंने कहा कि भाजपा दो हिंदुस्तान बनाना चाहती है – एक अमीर उद्योगपतियों का, और दूसरा दलितों, आदिवासियों, किसानों, गरीबों और वंचितों का. लेकिन कांग्रेस पार्टी एक भारत के पक्ष में हैं.

कांग्रेस नेता ने देश को एकजुट करने और जोड़े रखने की बात कही, और कहा कि भाजपा की विचारधारा विभाजन करने की है. उन्होंने कहा कि देश में दो विचारधाराओं के बीच लड़ाई है.

राहुल ने कहा, “हम जरूरतमंदों और कमजोरों की मदद करने के लिए काम करते हैं, और भाजपा कुछ उद्योगपतियों के लिए.”

राहुल गांधी की यह रैली कांग्रेस के चिंतन शिविर के बाद आई है. इसमें पार्टी ने अपने संगठन को सुधारने, और लोगों के साथ संबंध को पुनर्जीवित करने के लिए कड़ी मेहनत करने का संकल्प लिया था.

राहुल ने सोमवार को राजस्थान के बांसवाड़ा जिले में एक पुल का शिलान्यास भी किया और डूंगरपुर में बेणेश्वर धाम मंदिर के दर्शन किए. बेणेश्वर धाम यहां के आदिवासी लोगों का तीर्थ है और यह तीन नदियों – सोम, माही और जाखम के संगम पर स्थित है.

राहुल की रैली में राजस्थान के आदिवासियों के अलावा और पड़ोसी गुजरात और मध्य प्रदेश के आदिवासी भी आए थे, जिसका राजनीतिक महत्व साफ़ है.

रैली में राहुल ने आदिवासियों से यह वादा भी किया कि वह बेणेश्वर धाम के मेले में शामिल होंगे, जिसे आदिवासियों के महाकुंभ कहा जाता है.

राहुल के साथ रैली में कांग्रेस के कई दूसरे नेता भी शामिल थे. रैली में मौजूद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, “हमें गर्व है कि हम हिंदू हैं लेकिन हमें दूसरे धर्मों का भी सम्मान करना चाहिए. हमारी पार्टी की नीतियां और योजनाएं पूरे देश के हित में हैं.”

भाजपा पर देश को अलग करने का आरोप लगाते हुए गहलोत ने कहा, “देश में तनाव का माहौल है. कई जगहों पर दंगे हो रहे हैं, इससे किसे फायदा हो रहा है? कौन सी पार्टी? उसी पार्टी के कार्यकर्ता दंगों का माहौल बना रहे हैं.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here