मध्य प्रदेश: जमीन के लिए तीन लोगों ने आदिवासी महिला को आग लगा दी

सहरिया पीवीटीजी समुदाय की महिला ने पुलिस को बताया कि आरोपियों ने उसपर डीजल फेंका और उसे आग लगा दी.

0
57

मध्य प्रदेश के गुना जिले में ज़मीन को लेकर विवाद के चलते तीन लोगों ने एक आदिवासी महिला को आग लगा दी. महिला का शरीर बुरी तरह से झुलस गया, और उनकी हालत काफी गंभीर है. पुलिस ने आज इस घटना की जानकारी साझा की. 

गुना के पुलिस अधीक्षक पंकज श्रीवास्तव के मुताबिक घटना राजधानी भोपाल से 200 किलोमीटर दूर बमोरी थाना क्षेत्र के धनोरिया गांव में शनिवार की दोपहर को हुई.

अब तक दो आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है. सहरिया पीवीटीजी समुदाय की महिला ने पुलिस को बताया कि आरोपियों ने उसपर डीजल फेंका और उसे आग लगा दी.

एक आरोपी द्वारा शूट किया गया घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. इस वीडियो में जली हुई महिला दर्द में रोती हुई दिखाई दे रही है, और उसके चारों तरफ धुआं है.

वीडियो लेने वाले की आवाज भी उसमें रिकॉर्ड हुई है, और वो कह रहा है कि महिला ने खुद को आग लगा ली है. वो आगे कहता है, “चलो वीडियो शूट करते हैं.”

महिला के पति अर्जुन सहरिया ने पुलिस को अपनी शिकायत में कहा की शनिवार दोपहर जब वह अपने खेत में पहुंचा तो उसने देखा कि उसकी पत्नी रामप्यारी बाई गंभीर रूप से आग से झुलसी पड़ी है.

उसने पुलिस को यह भी बताया कि जब उसने अपनी पत्नी से पूछताछ की, तो उसने उसे बताया कि प्रताप, श्याम किरार और हनुमत नाम के तीन लोगों ने उसे आग के हवाले कर दिया.

पुलिस ने कहा कि महिला की हालत गंभीर होने के कारण उसे बेहतर इलाज के लिए भोपाल के एक अस्पताल में रेफर कर दिया गया.

अधिकारी ने यह भी बताया कि दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि तीसरा व्यक्ति, को फिलहाल फरार है, उसकी तलाश की जा रही है.

अर्जुन सहरिया ने पुलिस को बताया कि आरोपी ने जबरन उसकी जमीन हड़प ली थी. लेकिन स्थानीय प्रशासन ने इस साल मई में ज़मीन छुड़ा कर उसे सौंप दिया था.

अर्जुन ने 23 जून को एसपी को एक आवेदन दिया था, जिसमें आरोपियों से उनकी जान को खतरा होने का दावा किया गया था. इसकी शिकायत बमोरी थाने में भी की गई, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई.

पुलिस ने कहा कि आरोपी ने अर्जुन की छह बीघा जमीन पर कब्जा कर लिया था जो कानूनी रूप से उसकी थी. तहसीलदार के दरबार में भी मामला सुलझ गया और जमीन का कब्जा अर्जुन और उसके परिवार को दे दिया गया.

शनिवार को जब आरोपी जमीन जोत रहे थे, रामप्यारी खेत में पहुंच गई. जब उसने उन्हें रोकने की कोशिश की, तो उन्होंने उस पर डीजल डाल दिया और उसे आग के हवाले कर दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here