‘ऐसी वारदात तो होती रहती है’, पेड़ से लटकी मिले नाबालिग लड़की के शव पर बोले सीएम हेमंत सोरेन

दुमका में शनिवार को पेड़ से लटकी मिली नाबालिग लड़की के शव पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि ऐसी घटनाएं कहां नहीं होती हैं.

0
23

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने दुमका में नाबालिग की रेप के बाद हत्या कर शव पेड़ से लटकाने के मामले में कहा- ‘ऐसी घटनाएं होती रहती है. ऐसी घटनाएं कहां नहीं होती हैं.’

शनिवार को दुमका में एक लड़की का शव पेड़ से लटका मिला था. झारखंड पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. उसके खिलाफ रेप और हत्या का मामला दर्ज किया गया है.

सीएम सोरेन को पहले ही विपक्षी पार्टियों के आलोचना का सामना करना पड़ रहा है.. क्योंकि इससे पहले दुमका में ही एकतरफा प्यार में एक 16 वर्षीय लड़की को जिंदा जला दिया था. कुछ दिनों बाद अस्पताल में लड़की की मौत हो गई. इस मामले में पुलिस ने आरोपी शाहरुख और उसके दोस्त को गिरफ्तार कर लिया था. वहीं उसी दिन, रांची में एक 15 वर्षीय आदिवासी लड़की के साथ कथित तौर पर एक 26 वर्षीय शख्स ने बलात्कार किया, जो उसके घर में घुस गया था.

दुमका की इस घटना पर पहले तो मुख्यमंत्री ने दुख जताया और ट्वीट किया,”दुमका में हुई घटना से मैं दुखी हूं. इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. साथ ही मैंने दुमका पुलिस को सख्त कानूनी कदम उठाने के आदेश भी दिए हैं. भगवान परिवार को दुख सहने की शक्ति दे.”

फिर इसके बारे में पत्रकारों से बात करते हुए कहा, “ऐसी घटनाएं तो होती रहती है. ऐसी घटनाएं कहां नहीं होती. घटना कोई बोलकर तो आती नहीं है. तो इसको किस तरह से लिया जाए. मैंने अपनी सोच आपके समक्ष रखी है.”

हेमंत सोरेन के इस बयान की हर तरफ आलोचना हो रही है और इसे असंवेदनशील बताया जा रहा है. झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बाबुलाल मारांडी ने ट्वीट किया, “पूत के पांव पालने में ही पहचाने जाते हैं. दया आती है झारखंड के इस “होनहार” मुख्यमंत्री के घटिया सोच एवं भावना पर. इन्हें थोड़ी सदबुद्धि दे दीजिये भगवान.”

झारखंड की गोड्डा सीट से लोकसभा सांसद निशिकांत दुबे ने ट्विटर पर लिखा, “15-16 साल की लड़की को शाहरुख ने ज़िंदा जला दिया. अंसारी ने लड़की की हत्या कर पेड़ से लटका दिया और मुख्यमंत्री कह रहे हैं ऐसी घटनाएं होती रहती हैं.”

सीपीआई नेता एनी राजा ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा, “ऐसी घटना झारखंड में पहले भी हुई है तो हेमंत सोरेन कुर्सी पर क्यों बैठे हैं? वो कुर्सी पर इसलिए ही बैठे थे ताकि ऐसी घटनाएं ना हो. उनका ये बयान बेहद शर्मनाक है.देश में ऐसी वारदातें ना हों ये सुनिश्चित करने के लिए बहुत सारे कानून हैं. एक मुख्यमंत्री के तौर पर उन्हें कोशिश करणी चाहिए कि राज्य में सारे कानूनों को अमल में लाया जाए और उनका पालन हो”

वहीं राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (National Commission for Protection of Child Rights) के प्रमुख प्रियांक कानूनगो ने रविवार को कहा कि मामले ‘चिंताजनक’ हैं और उनकी टीम जांच की स्थिति का जायजा लेने के लिए राज्य का दौरा करेगी.

क्या है मामला?

दरअसल दुमका ज़िले के विश्वविद्यालय थाना के श्रीअमड़ा से पुलिस को किशोरी का पेड़ से लटकता हुआ शव मिला था. 3 सितंबर की सुबह श्रीअमड़ा गांव के कुछ लोग रास्ते से गुजर रहे थे, तभी उनकी नजर पेड़ से लटक रहे किशोरी के शव पर पड़ी. किसी ने बताया कि पास एक घर में नाबालिग काम करती थी. इसके बाद में उसकी शिनाख्त हो सकी थी. मृतका रानेश्वर थाना इलाके के रंगलिया पंचायत की थी.

सूत्रों के मुताबिक, रंगलिया के कोचीया डगाल की रहने वाली युवती दुमका के जामा स्थित अपनी मौसी के घर काम करती थी. इस दरम्यान अरमान अंसारी नाम के एक मुस्लिम युवक ने उसे प्रेम जाल में फंसाया. आरोपी अरमान मलिक ने शादी के नाम पर नाबालिग लड़की का यौन शोषण किया. जब आरोपी पर शादी का दबाव बनाया तो एक साजिश के तहत युवती की हत्या कर दी.

पुलिस के मुताबिक, मृत नाबालिग लड़की का जब पोस्टमार्टम कराया गया तो उसके गर्भवती होने की बात पता चली है. डीआईजी सुदर्शन मंडल ने कहा है कि लड़की की दुष्कर्म के बाद हत्या की गई.

दुमका एसपी अंबर लकड़ा ने कहा कि आरोपी युवक अरमान अंसारी को गिरफ्तारी कर लिया गया है. उसके ऊपर IPC की धारा 302, 376, 201 के साथ ही SC/ST एक्ट और पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है. सबूत जुटान के बाद जल्द चार्जशीट दाखिल की जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here