आदिवासी बस्ती से रैंप तक का सफर, यह है अट्टपाड़ी की अनुप्रशोभिनी की कहानी

देशभर और विदेश की लगभग 500 लड़कियों ने मिस केरल प्रतियोगिता के लिए पंजीकरण कराया था. प्रतियोगिता त्रिशूर स्थित एक संगठन द्वारा आयोजित की गई है. अनुप्रशोभिनी ने बताया कि उन्होंने अपना आवेदन भेजते समय अपने कुछ इंस्टाग्राम रील भी आयोजकों को भेजे थे.

0
345

अनुप्रशोभिनी आजकल बेहद खुश हैं. केरल के अट्टपाड़ी में कोट्टतरा के चोरियनूर में बसे एक आदिवासी समुदाय की इस 17 साल की लड़की ने सामाजिक बाधाओं से लड़कर बड़ी कामयाबी हासिल की है.

अनुप्रशोभिनी मिस केरला फिटनेस एंड फैशन 2021 पेजेंट के अंतिम दौर में जगह बनाने वाली राज्य की पहली आदिवासी लड़की बन गई हैं.

पालक्काड़ जिले के गवर्नमेंट मोयन मॉडल गर्ल्स एचएसएस में बारहवीं की यह छात्रा आजकल पूरे राज्य से मिल रहे ध्यान को लेकर काफी उत्साहित है.

देशभर और विदेश की लगभग 500 लड़कियों ने मिस केरल प्रतियोगिता के लिए पंजीकरण कराया था. प्रतियोगिता त्रिशूर स्थित एक संगठन द्वारा आयोजित की गई है. अनुप्रशोभिनी ने बताया कि उन्होंने अपना आवेदन भेजते समय अपने कुछ इंस्टाग्राम रील भी आयोजकों को भेजे थे.

आयोजकों ने उनके आवेदन का मूल्यांकन कर उन्हें ऑडिशन के लिए बुलाया. आदिवासी समुदायों की कुछ दूसरी लड़कियों ने भी ऑडिशन में भाग लिया था.

ग्रूमिंग सेशन ने उनकी बहुत मदद की, और वो फाइनल राउंड में पहुंचने में सफल रहीं. अनुप्रशोभिनी 33 शॉर्टलिस्टेड प्रतियोगियों में से एक हैं.

पालक्काड़ के आदिवासी हॉस्टल में रहने वाली अनुप्रशोभिनी रैंप पर पहुंचने से पहले ही मलयाली यूट्यूब दर्शकों के बीच एक जाना-पहचाना चेहरा थीं. अनु ने अपने चैनल के माध्यम से अट्टपाड़ी की खूबसूरती और उसके आदिवासी निवासियों को दुनिया के सामने रखा.

उनके YouTube अनुभव ने भी उन्हें पब्लिक डोमेन में आगे बढ़ने का कॉन्फिडेंस दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here