गुजरात: प्रधानमंत्री करेंगे 4.50 लाख आदिवासियों को पानी पहुंचाने वाली योजना की शुरुआत, वोट पर है नज़र

प्रधानमंत्री मोदी दक्षिण गुजरात के आदिवासी जिलों के लिए 3,054 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे

0
119

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी 10 जून यानि कल गुजरात के नवसारी जिले में होंगे. अपने दौरे पर प्रधानमंत्री मोदी दक्षिण गुजरात के आदिवासी जिलों के लिए 3,054 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे.

इसमें एस्टोल परियोजना शामिल है जो वलसाड जिले की पहाड़ियों पर 174 आदिवासी गांवों और 1,028 बस्तियों में रहने वाले 4.50 लाख लोगों को नल का पानी पहुंचाएगी.

परियोजना के बारे में मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने कहा, “वलसाड जिले के कपराडा और धर्मपुर तालुकों में एस्टोल परियोजना को पूरा करना एक चुनौतीपूर्ण काम था, लेकिन मुझे खुशी है कि हमारे इंजीनियरों ने सभी बाधाओं को पार कर लिया. यह इंजीनियरिंग के नजरिए से एक तकनीकी चमत्कार है. इस परियोजना के माध्यम से हमने लगभग 200 मंजिला इमारत (1,875 फीट) की ऊंचाई तक पानी लेकर इन पहाड़ी क्षेत्रों में पानी की उपलब्धता सुनिश्चित की है.”

एस्टोल परियोजना और उसकी अहमियत

इस परियोजना की अहमियत और इसकी सफ़लता अब और बढ़ गई है, क्योंकि दक्षिण गुजरात में आदिवासियों के विरोध के बाद राज्य सरकार को नर्मदा-पार-तापी लिंक परियोजना को रद्द करने के लिए मजबूर होना पड़ा था. (आदिवासियों के विरोध के बारे में जानने के लिए यहां क्लिक करें.)

2018 में, राज्य सरकार ने इन पहाड़ी क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को पीने लायक पानी की आपूर्ति सुनिश्चित करने के मकसद से 586.16 करोड़ रुपये की लागत से एस्टोल परियोजना शुरू की थी. इस परियोजना के तहत मधुबन बांध, जिसकी कुल क्षमता 567 मिलियन क्यूबिक मीटर है, से पानी पंपिंग स्टेशनों के माध्यम से लोगों के घरों तक पहुंचने के लिए लिफ्ट तकनीक का उपयोग किया जाएगा.

यह पहली बार होगा जब मधुबन बांध के पानी का इसेतमाल पीने के लिए किया जाएगा क्योंकि पहले इसका उपयोग सिर्फ़ सिंचाई के लिए होता रहा है. 8-मेगावाट वोल्ट एम्पीयर (एमवीए) की क्षमता वाले कुल 28 पंपिंग स्टेशन स्थापित किए गए हैं जो हर रोज़ लगभग 75 मिलियन लीटर पीने के पानी की आपूर्ति में मदद करेंगे.

इन क्षेत्रों में पानी के भंडारण के लिए गांवों और बस्तियों में जमीनी स्तर पर छह टैंक (4.7 मिलियन लीटर की क्षमता), 28 अंडरग्राउंड टैंक (7.7 करोड़ लीटर की क्षमता) और 1,202 टैंक (44 मिलियन लीटर की क्षमता) का निर्माण किया गया है.

प्रधानमंत्री मोदी का दौरा

पीएम मोदी सात परियोजनाओं को पूरा करने, 12 परियोजनाओं की आधारशिला रखने और 14 परियोजनाओं के लिए भूमि पूजन की भी घोषणा करेंगे. इन सब परियोजनाओं की कुल लागत 3,054 करोड़ रुपये है.

ये कार्यक्रम उनकी खुदवेल गांव की यात्रा के लिए तैयार किए गए हैं जहां वह “गुजरात गौरव अभियान” में हिस्सा लेंगे. ये परियोजनाएं वलसाड, नवसारी और सूरत जिलों में फैली हैं.

10 जून को प्रधानमंत्री नवसारी में एक अस्पताल और अहमदाबाद में इंडियन नेशनल स्पेस प्रमोशन एंड ऑथराइजेशन सेंटर (IN-SPACe) के मुख्यालय का उद्घाटन करेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here