छत्तीसगढ़ के इस खेल अकादमी में पांच आदिवासी युवकों को कोचों ने ‘पीटा’

छात्रों ने आरोप लगाया कि दोनों कोचों ने पहले उनके खिलाफ नस्लीय गालियों और अन्य गालियों का इस्तेमाल किया है.

0
220

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में एक खेल अकादमी के पांच आदिवासी युवकों ने अपने दो कोचों के खिलाफ कथित तौर पर मारपीट करने और उन्हें गाली देने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज करने के लिए पुलिस को एक आवेदन दिया है.

पुलिस से संपर्क करने वाले पांच में से एक 17 वर्षीय युवक ने कहा, “दो कोचों ने 4 जनवरी को हमें बुरी तरह पीटा. प्रैक्टिस के बाद उन्होंने हमें इंतजार कराया, गालियां दीं, ताना मारा कहा कि हम और अभ्यास नहीं कर पाएंगे क्योंकि लॉकडाउन निकट था. प्रैक्टिस कम करने के चलते हम पहले से ही उत्तेजित थे और हममें से कुछ ने आवाज उठाई. फिर हमें बेल्ट से पीटा गया.”

इसके बाद अकादमी के पांच छात्र पुलिस थाने पहुंचे और अपनी शिकायत दर्ज कराई.

दोनों कोचों के खिलाफ पूर्व में भी बस्तर संभाग आयुक्त और बीजापुर जिला अधिकारियों से शिकायत की जा चुकी है.

17 वर्षीय युवक के मुताबिक, पिटाई कोई नई घटना नहीं थी. युवक ने कहा, “कोचों ने हमें पहले भी पीटा है, जिसमें लड़कियां भी शामिल हैं. हर कोई इतना डरा हुआ है कि शिकायत करने पर हमें अकादमी से निकाल दिया जा सकता है. लेकिन अब बहुत हो गया था.”

अन्य छात्रों ने आरोप लगाया कि दोनों कोचों ने पहले उनके खिलाफ नस्लीय गालियों और अन्य गालियों का इस्तेमाल किया है.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने शिकायत का संज्ञान लिया है और मामले की जांच की जा रही है. जिला कलेक्टर ने भी जांच के आदेश दिए हैं.

बीजापुर कलेक्टर राजेंद्र कटारा ने कहा, “हमने एक जांच शुरू की है, जैसा कि पुलिस ने किया है. जो भी गलत है, हम उस पर उचित कार्रवाई करने जा रहे हैं.”

2016 में सरकार द्वारा बीजापुर में स्थापित अकादमी ने छत्तीसगढ़ की खेल प्रतिभा को सामने लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here