मध्य प्रदेश: एकतरफा प्यार में गांव के चौकीदार ने घर में घुसकर आदिवासी लड़की को चाकू से गोद डाला

पीड़िता की बहन ने आरोप लगाया कि बबलू उसकी बहन का पीछा कर रहा था और अक्सर उसे गाली देता था. उसने कहा कि आरोपी उससे शादी करने के लिए मजबूर कर रहा था लेकिन उसने मना कर दिया, जिसके कारण उसने उस पर हमला किया.

0
40

मध्य प्रदेश के खंडवा जिले के एक अस्पताल में एकतरफा प्यार में एक 20 वर्षीय लड़की अपने घर के अंदर गांव के चौकीदार द्वारा कथित तौर पर उससे शादी करने से इनकार करने पर हमला करने के एक दिन बाद जीवन के लिए संघर्ष कर रही है. लड़की और चौकीदार दोनों ही आदिवासी हैं.

खंडवा जिले के मुंडी क्षेत्र के बांगरदा गांव में सोमवार को दिल दहला देने वाली घटना उस समय हुई, जब लड़की घर में अपनी बड़ी बहन के साथ अकेली थी.

लड़की के गले और हाथ में गहरे घाव होने की वजह से हालत गंभीर बताई जा रही है. फिलहाल फरार चौकीदार बबलू के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया गया है.

जानकारी के मुताबिक लड़की पर चौकीदार बबलू (उसकी उम्र का एक आदिवासी) ने तब हमला किया था, जब लड़की और उसकी बहन घर में ही मौजूद थे. कहा ये जा रहा है कि लड़की ने शख्स के शादी के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था. जिसके बाद उसने इस घटना को अंजाम दिया.

अस्पताल में घायल महिला की बहन ने कहा, “मैं और मेरी छोटी बहन दोनों घर में अकेले थे, क्योंकि हमारे माता-पिता मौसी के गाँव गए थे. हम घर के अंदर बाल्टी में पानी भर रहे थे. जैसे ही मैं कमरे के अंदर गई, चौकीदार बबलू घर में घुस गया और मेरी बहन पर हमला कर दिया. जब वह मदद के लिए चिल्लाई तो मैं कमरे से बाहर भागी लेकिन उसके गर्दन और हाथों से खून बह रहा था, मैं घाव देखकर चौंक गई. जब तक मैं बाहर निकली तब तक बबलू भाग गया था.”

उसने आगे आरोप लगाया कि बबलू उसकी बहन का पीछा कर रहा था और अक्सर उसे गाली देता था. उसने कहा, “वह उसे शादी करने के लिए मजबूर कर रहा था लेकिन उसने मना कर दिया, जिसके कारण उसने उस पर हमला किया.”

गंभीर रूप से घायल लड़की के पिता ने कहा, ”बबलू ने चारदीवारी पर चढ़कर घर में छलांग लगा दी और मेरी बेटी पर हमला कर दिया. उसे मेरी बेटी को परेशान न करने की चेतावनी दी थी, लेकिन उसने हमारी अनुपस्थिति का फायदा उठाया और मेरी बेटी पर घर के अंदर हमला कर दिया.”

खंडवा जिले के पुलिस अधीक्षक विवेक सिंह के मुताबिक, “डॉक्टरों द्वारा एक सर्जरी के बावजूद, लड़की की हालत गंभीर बनी हुई है. हमारी टीमें आरोपी को पकड़ने के लिए छापेमारी कर रही हैं.”

महत्वपूर्ण बात यह है कि कुछ महीने पहले आरोपी बबलू को अपने चौकीदार पिता की मृत्यु के बाद अनुकंपा के आधार पर गांव चौकीदार नियुक्त किया गया था.

हाल ही में इसी से मिलती-जुलती घटना झारखंड में भी घटी थी. जहां दुमका जिले में 23 अगस्त को शाहरुख नामक एक युवक ने एकतरफा प्यार में असफल होने पर 12वीं कक्षा में पढ़ने वाली 19 साल की युवती को जिंदा जला दिया था. हालांकि इस मामले में आरोपी की गिरफ्तारी हो चुकी है और पुलिस मामले में आगे की कार्रवाई कर रही है.

(प्रतिकात्मक तस्वीर)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here