द्रौपदी मुर्मू भारत की पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति बनीं

राष्ट्रपति चुनाव में द्रौपदी मुर्मू ने बड़ी जीत हासिल की है. इस चुनाव में मुर्मू का मुकाबला विपक्ष के संयुक्त उम्मीदवार यशवंत सिन्हा से था.

0
107

द्रौपदी मुर्मू देश की पहली महिला आदिवासी राष्‍ट्रपति बन गई हैं. राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए की उम्मीदवार मुर्मू ने बड़ी जीत हासिल की है. द्रौपदी मुर्मू ने विपक्ष के उम्‍मीदवार यशवंत सिन्‍हा को बड़े अंतर से पराजित किया है. तीसरे राउंड की गिनती में ही उन्होंने राष्ट्रपति बनने के लिए जरूरी 50 फीसदी वोट पा लिए हैं. हालांकि अभी एक राउंड वोटों की गिनती बची है, लेकिन यह सिर्फ औपचारिकता मात्र है.

न्यूज एजेंसी एएनआई ने राज्यसभा के महासचिव पीसी मोदी के हवाले से बताया, ”यशवंत सिन्हा को प्रथम वरीयता के 1,877 वोट मिले, जिसका मूल्य 3,80,177 रहा. चूंकि द्रौपदी मुर्मू को पहली वरीयता के वोट चुने जाने के लिए ज़रूरी कोटा से ज़्यादा थे, इसलिए रिटर्निंग ऑफिसर के रूप में मैं एलान करता हूं कि वो भारत के राष्ट्रपति पद के लिए चुन ली गई हैं.”

उन्होंने आगे बताया, ”परिणाम की घोषणा के साथ ही राष्ट्रपति का चुनाव अब पूरा हो गया है. इस चुनाव में कुल 4,754 वोट पड़े, जिसमें से 4,701 वोट वैध थे, जबकि 53 अमान्य.”

उन्होंने आगे कहा, “द्रौपदी मुर्मू को इसमें से पहली वरीयता वाले 2,824 वोट मिले, जिसका मूल्य 6,76,803 रहा. वहीं राष्ट्रपति चुने जाने के लिए किसी उम्मीदवार को 5,28,491 मूल्य का कोटा हासिल करना था.”

पीटीआई के मुताबिक पीसी मोदी ने बताया कि इस चुनाव में द्रौपदी मुर्मू को कुल वैध 64 फीसदी वोट मिले, जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी यशवंत सिन्हा को 36 फीसदी वोट मिले.

मुर्मू की जीत के साथ ही बधाइयों का सिलसिला भी शुरू हो गया. मोदी दिल्ली में द्रौपदी मुर्मू के घर पहुंच चुके हैं. यहां उनके साथ बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा भी हैं. दोनों ने मुर्मू को राष्ट्रपति चुनाव जीतने पर बधाई दी.

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर बधाई देते हुए कहा कि आदिवासी समुदाय की एक बेटी के राष्ट्रपति निर्वाचित होने के साथ ही भारत ने इतिहास लिखा है. द्रोपदी मुर्मू की जिंदगी, मिसाल कायम करने वाली, उनकी कामयाबी हर भारतीय को प्रेरित करेगी, वह नागरिकों के लिए उम्मीद की किरण बनकर उभरी हैं.

उन्होंने कहा, ”ऐसे समय में जब 1.3 अरब भारतीय आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं तब पूर्वी भारत के एक सुदूर हिस्से में पैदा हुए एक आदिवासी समुदाय की भारत की बेटी को हमारा राष्ट्रपति चुना गया है! श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जी को इस जीत पर हार्दिक बधाईयां.”

प्रधानमंत्री ने कहा कि श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जी एक सर्वश्रेष्ठ विधायक और मंत्री रही हैं. झारखंड के राज्यपाल के रूप में उनका कार्यकाल शानदार रहा है. मुझे भरोसा है कि वह एक उत्कृष्ट राष्ट्रपति होंगी जो आगे बढ़कर देश का नेतृत्व करेंगी और भारत की विकास यात्रा को मजबूत करने में हमारी मदद करेंगी. उन्होंने कहा कि मैं पार्टी लाइन के बाहर उन सभी सांसदों और विधायकों को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने श्रीमती द्रौपदी मुर्मू का समर्थन किया है. उनकी जीत हमारे लोकतंत्र के लिए शुभ संकेत है.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी द्रौपदी मुर्मू को बधाई दी है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “राष्ट्रपति चुनाव में प्रभावी जीत दर्ज करने के लिए श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जी को बधाई. वे गांव, गरीब, वंचितों के साथ-साथ झुग्गी-झोपड़ियों में भी लोक कल्याण के लिए सक्रिय रहीं हैं.आज वे उनके बीच से निकल कर सर्वोच्च संवैधानिक पद तक पहुँची हैं. यह भारतीय लोकतंत्र की ताक़त का प्रमाण है.”

द्रौपदी मुर्मू के देश के 15वें राष्ट्रपति निर्वाचित होने के बाद पक्ष विपक्ष दोनों तरफ से बधाईयों का तांता लगा है. सत्ता पक्ष के साथ-साथ विपक्ष के तमाम नेताओं ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को बधाई दी.

यशवंत सिन्हा ने द्रौपदी मुर्मू को जीतने पर बधाई दी है. उन्होंने लिखा, “राष्ट्रपति चुनाव 2022 में विजयी होने पर मैं श्रीमती द्रौपदी मुर्मू को बधाई देता हूँ. देशवासियों को उम्मीद है कि 15वें राष्ट्रपति के रूप में वो बिना किसी भय या पक्षपात के संविधान की संरक्षक के रूप में जिम्मेदारी निभाएंगी.”

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा, “देश की 15वीं राष्ट्रपति चुने जाने पर द्रौपदी मुर्मू को बधाई.”

वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, “देश के 15वें राष्ट्रपति के रूप में निर्वाचित होने पर आदरणीय श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जी को बहुत-बहुत बधाई एवं शुभकामनाएँ.”

द्रौपदी मुर्मू की जीत पर BSP प्रमुख का भी बयान आया है. उन्होंने लिखा कि शोषित व अति-पिछड़े आदिवासी समाज की महिला द्रौपदी मुर्मू को देश के राष्ट्रपति पद के लिए हुए चुनाव में भारी मतों से आज निर्वाचित होने पर उन्हें हार्दिक बधाई एवं ढेरों शुभकामनाएं. वे एक कुशल व सफल राष्ट्रपति साबित होंगी, ऐसी देश को उम्मीद है.

द्रौपदी मुर्मू देश की 15वीं राष्ट्रपति बन गई हैं. उनका जीतना तो पहले से तय माना जा रहा था, लेकिन क्रॉस वोटिंग ने उनके जीत के अंतर और ज्यादा बड़ा कर दिया है. जो आकंड़े सामने आए हैं उनसे पता चलता है कि विपक्ष के सदस्यों ने भी द्रौपदी मुर्मू के समर्थन में वोट किए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here