केरल: नाबालिग आदिवासी बच्चियों से बलात्कार के आरोप में दो युवक गिरफ्तार

बहनों के प्रताड़ित होने का मामला ऐसे समय पर सामने आया है, जब विदुरा और पेरिंगमला का आदिवासी इलाका युवा लड़कियों के बीच यौन शोषण और आत्महत्या के कई मामलों की वजह से सुर्खियों में है.

0
163

केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम की विदुरा पुलिस ने सोमवार को दो नाबालिग आदिवासी लड़कियों से बलात्कार के आरोप में दो युवकों को गिरफ्तार किया है.

16 और 14 साल की बहनों के प्रताड़ित होने का मामला ऐसे समय पर सामने आया है, जब विदुरा और पेरिंगमला का आदिवासी इलाका युवा लड़कियों के बीच यौन शोषण और आत्महत्या के कई मामलों की वजह से सुर्खियों में है.

पुलिस ने आरोपियों की पहचान पेप्पारा निवासी विनोद उर्फ ​​रेंजू (32) और किलिमनूर निवासी 23 साल के शरत के रूप में की है.

पीड़ित लड़कियों की मां का रिश्तेदार विनोद उनके घर अक्सर आता-जाता रहता था. वह पीड़ितों के माता-पिता के साथ रबर टैपिंग का भी काम करता था. उसने बहनों का बलात्कार किया, और उनके माता-पिता को अपराध का खुलासा न करने की धमकी भी दी.

बाद में, वह अपने दोस्त शरत को लड़कियों के घर ले आया और उसकी दोनों बहनों का यौन शोषण करने में मदद की.

यह घटना दो दिन पहले तब सामने आई जब विनोद ने बड़ी बहन का अपहरण कर लिया, और उसे अपने घर नागरूर ले गया. लड़की के माता-पिता विनोद के घर पहुंचे और उसे छुड़ाया, तो आरोपी इलाके से फरार हो गया.

विदुरा इंस्पेक्टर SHO (आईएसएचओ) एस श्रीजीत के नेतृत्व में एक टीम ने पतनमतिट्टा में एक रबर प्लांटेशन से विनोद को पकड़ा, जहां उसका दोस्त काम करता था. बाद में दोनों लड़कियों द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर शरत को पकड़ा गया.

आरोपियों पर POCSO और जुविनाइल जस्टिस एक्ट के प्रावधानों के तहत आरोप लगाए गए हैं.

लड़कियों को काउंसलिंग और सुरक्षित आवास सुनिश्चित करने के लिए बाल कल्याण समिति के पास भेज दिया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here