तमिलनाडु: नीलगिरी ज़िले के लगभग सभी आदिवासियों को कोविड वैक्सीन लगा

नीलगिरी में आदिवासी समुदायों के कुल 27,500 लोग हैं, जिनमें से 21,750 कोविड वैक्सीन लगवाने योग्य थे. इनमें से 21,500 लोगों को वैक्सीन लगा दिया गया है.

0
398

तमिलनाडु के नीलगिरी ज़िले में लगभग सभी आदिवासी लोगों और चाय बागान मज़दूरों को कोविड वैक्सीन लगा दिया गया है.

ज़िला कलेक्टर जे इनोसेंट दिव्या ने एक अखबार को बताया कि चाय बागान मज़दूरों की पूरी आबादी, और ज़िले के के आदिवासी समुदायों के लगभग सभी सदस्यों को COVID-19 का वैक्सीन लग गया है.

ज़िला कलेक्टर दिव्या ने सोमवार को कुन्नूर में संवाददाताओं को बताया कि नीलगिरी में आदिवासी समुदायों के कुल 27,500 लोग हैं, जिनमें से 21,750 कोविड वैक्सीन लगवाने योग्य थे. इनमें से 21,500 लोगों को वैक्सीन लगा दिया गया है.

नीलगिरी में कुल 21,750 योग्य आदिवासियों में से 21,500 को वैक्सीन लग गया है

उन्होंने यह भी कहा कि बाकी लोगों को बुधवार तक कोविड वैक्सीन लगा दिया जाएगा. इसके अलावा ज़िले के सभी चाय बागानों और कारखानों में काम करने वाले लोगों को भी वैक्सीन लग गया है.

नीलगिरी ज़िले में अब तक 2.89 लाख लोगों को वैक्सीन की कम से कम एक डोज़ लगाई जा चुकी है.

नीलगिरी ज़िले का दौरा करते हुए तमिलनाडु के चिकित्सा और परिवार कल्याण मंत्री मा सुब्रमण्यम ने पूरी आदिवासी आबादी के साथ-साथ चाय बागानों और कारखानों में काम करने वाले लोगों को वैक्सीन लगाने का दोहरा लक्ष्य निर्धारित किया था.

ज़िले में पनिया, कुरुम्बा, टोडा, कोटा, इरुला और काट्टुनायकन आदिवासी रहते हैं

नीलगिरी के आदिवासी

2011 की जनगणना के हिसाब से नीलगिरी ज़िले की सात लाख से ज़्यादा आबादी का क़रीब साढ़े चार प्रतिशत हिस्सा आदिवासी है.

ज़िले में पनिया, कुरुम्बा, टोडा, कोटा, इरुला और काट्टुनायकन आदिवासी समुदाय रहते हैं. यह सभी आदिम जनजातियां हैं, यानि पीवीटीजी की श्रेणी में आती हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here