रायपुर में राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव की रंगारंग शुरुआत

0
468

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में आज National Tribal Dance festival 2021 की शुरुआत हो गई. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने रायपुर के साइंस कॉलेज मैदान में ‘राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव 2021’ का शुभारंभ किया.

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ मंच पर

मैं भी भारत की टीम भी वहां मौजूद है. आइए तस्वीरों के ज़रिए आपको महोत्सव से रूबरू करवाते हैं.

मेज़बान राज्य छत्तीसगढ़ के कलाकार
मेज़बान राज्य छत्तीसगढ़ के कलाकार

देश के लगभग हर राज्य और यूनियन टेरिटरी से आदिवासी कलाकार रायपुर पहुंचे हैं.

आंध्रप्रदेश के कलाकारों द्वारा उनके लोक नृत्य ‘डिम्सा’ का प्रदर्शन
आंध्र प्रदेश का लोक नृत्य ‘गुरयाबल्लु’
जम्मू-कश्मीर के कलाकारों द्वारा पारंपरिक लोक नृत्य ‘गोजरी’
असम के कलाकारों द्वारा उनके लोक नृत्य ‘कारबी-तिवा’ का प्रदर्शन
कारबी-तिवा
त्रिपुरा के कलाकारों द्वारा अपने पारंपरिक वेशभूषा में प्रदर्शन

दुनिया के सात अलग-अलग देशों के आदिवासी कलाकार भी रायपुर पहुंचे हैं. छत्तीसगढ़ सरकार की पर्यटन विकास योजना के तहत आयोजित तीन दिन के इस उत्सव में उज़्बेकिस्तान, नाइजीरिया, श्रीलंका, युगांडा, सीरिया, माली, फिलिस्तीन और किंगडम ऑफ एस्वातिनी से अलग-अलग आदिवासी समुदायों के कलाकार आए हैं.

यूगांडा के कलाकार
उज़्बेकिस्तान से आए आदिवासी कलाकार
फ़िलिस्तीन से आए कलाकार

2019 में राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव के पहले एडिशन में भारत के 25 राज्यों और छह अतिथि देशों के आदिवासी समुदायों की भागीदारी देखी गई. उस साल एक लाख से ज़्यादा लोगों ने उत्सव में हिस्सा लिया था.

इस साल शिरकत करने वाले देश के 27 राज्यों में छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, मणिपुर, कर्नाटक, मध्य प्रदेश और जम्मू-कश्मीर की जनजातियों के ख़ास नृत्य शामिल होंगे.

नृत्यों को दो श्रेणियों में आयोजित किया जाएगा – ‘शादी समारोह’ और ‘अन्य प्रमुख अनुष्ठान’.

आदिवासी कला और संस्कृति को उजागर करने के अलावा, त्योहार में आदिवासी समुदायों के आर्थिक विकास की पहल पर भी चर्चा होगी.

(कुछ तस्वीरें ट्विटर से ली गई हैं)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here