केरल की वाझचाल आदिवासी बस्ती में अलर्ट, काडर समुदाय के 30 लोगों को हुआ कोविड-19

स्थिति चिंताजनक है क्योंकि आदिवासियों का आमतौर पर बाहरी लोगों से संपर्क कम ही होता है. अधिकारियों ने अब एक चेकपोस्ट स्थापित किया है, और सिर्फ़ स्थानीय निवासियों को ही आदिवासी इलाकों में जाने की अनुमति है.

0
460

केरल के वन और स्वास्थ्य विभागों ने वाझचाल के जनजातीय क्षेत्र में अलर्ट जारी किया है. इलाक़े में काडर आदिवासियों की बस्ती में पिछले चार दिनों में 30 लोगों को कोरोना पॉज़िटिव पाया गया है.

स्वास्थ्य विभाग ने वाझचाल कॉलोनी में एक जन परीक्षण अभियान चलाया था जिसमें 200 आदिवासियों का कोविड टेस्ट किया गया था.

संक्रमित लोगों को पहले वाझचाल ट्राइबल हॉस्टल में आइसोलेट किया गया, जिसके बाद गुरुवार को उन्हें चालकुडी और कोरट्टी में कोविड फर्स्ट लाइन ट्रीटमेंट सेंटर (CFLTC) में शिफ़्ट किया गया.

स्थिति चिंताजनक है क्योंकि आदिवासियों का आमतौर पर बाहरी लोगों से संपर्क कम ही होता है. अधिकारियों ने अब एक चेकपोस्ट स्थापित किया है, और सिर्फ़ स्थानीय निवासियों को ही आदिवासी इलाकों में जाने की अनुमति है.

अदिरपल्ली और वाझचाल में पर्यटन स्थलों को भी बंद कर दिया गया है. आदिवासियों के बीच कोविड के तेज़ी से फैलने के बाद विभाग ने सात दिनों बाद एक और सामूहिक परीक्षण करने का निर्णय किया है.

वैसे तो काडर समुदाय बाहरी लोगों के साथ ज़्यादा नहीं घुलता-मिलता है, लेकिन अपने समुदाय के अंदर वह घनिष्ठ संबंध बनाए रखते हैं. यही वजह है कि कोविड भी यहां तेज़ी से फैला है.

काडर आदिवासियों में कोविड को देखते हुए, विभाग ने शोलयार आदिवासी बस्ती में भी सामूहिक परीक्षण करने का फैसला किया है. हाल ही में शोलयार पावर हाउस में काम करने वाले आठ लोगों को कोरोना पॉज़िटिव पाया गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here