छत्तीसगढ़: आज से शुरु हो रहे टीकाकरण अभियान में आदिवासियों को प्राथमिकता

0
327

छत्तीसगढ़ सरकार आज से शुरु हो रहे कोविड टीकाकरण अभियान में अंत्योदय कार्डधारकों, खासतौर पर जो आदिवासी हैं, और विशेष रूप से कमज़ोर आदिवासी समूहों (PVTGs) से आते हैं, को प्राथमिकता दे रही है.

आज 1 मई से 18 साल की उम्र से ऊपर के लोगों को देशभर में टीका लग सकता है. हालांकि कई राज्यों ने वैक्सीन की कमी के चलते आज से अभियान शुरु करने में असमर्थता दिखाई है.

छत्तीसगढ़ सरकार खुद के बजट पर टीकाकरण अभियान का रोलआउट कर रही है.

राज्य को शनिवार सुबह कोवैक्सिन की डेढ़ लाख खुराक मिलनी है, और सरकार का दोपहर तक टीकाकरण शुरू कर देने का प्लान है.

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव के मुताबिक़ यह खुराक अंत्योदय कार्डधारकों को प्राथमिकता के आधार पर दी जाएगी. इसके बाद ग़रीबी रेखा से नीचे के लोगों का नंबर आगा, और फिर बाकि लोगों का.

सिंह ने कहा कि 1.50 लाख वैक्सीन में से 146 ब्लॉकों में 1,16,800 वितरित किए जाएंगे और लगभग 14 नगर निगमों को 33,200 खुराकें वितरित की जाएंगी.

यह वैक्सीन रायपुर एयरपोर्ट पर सुबह 11.30 बजे आने की उम्मीद है, जहां से इसे दोपहर 12:30 बजे तक कोल्ड स्टोरेज में ले जाया जाएगा. इसके बाद इसे रायपुर, बिलासपुर और दुर्ग डिवीज़नों को भेजा जाएगा.

स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि बस्तर के दूर-दराज़ के ज़िलों और छत्तीसगढ़ के उत्तरी भाग के अन्य ज़िलों में सोमवार से टीकाकरण शुरु हो सकता है.

अंत्योदय कार्डधारकों और बीपीएल कार्ड धारकों के लिए ऑनलाइन पंजीकरण अनिवार्य नहीं है, क्योंकि इनमें से ज़्यादातर के पास मोबाइल फोन नहीं है. ऐसे में टीकाकरण के लिए उनका पंजीकरण ऑन-साइट किया जाएगा.

छत्तीसगढ़ में 14 लाख अंत्योदय कार्डधारक हैं, जिनकी कुल आबादी 42 लाख है. इसमें से 18 से 45 आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण पहले होगा. छत्तीसगढ़ में 18 साल की उम्र से ज़्यादा के लगभग 1.20 करोड़ लोग हैं, जो राज्य की कुल जनसंख्या का 43% हिस्सा हैं.

इससे पहले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 18-44 आयु वर्ग के टीकाकरण अभियान में सामाजिक और आर्थिक रूप से कमज़ोर वर्गों को प्राथमिकता देने के लिए केंद्र से अनुरोध किया था.

टीकों की मांग और आपूर्ति में बेमेल की तरफ़ इशारा करते हुए, उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से टीकाकरण को प्राथमिकता देने और लाभार्थियों के स्पॉट पंजीकरण की अनुमति देने की बात कही थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here