अलग-थलग रह कर नागा समुदाय का कोई भविष्य नहीं होगा – NSF

ओजुकुम, नागा स्टूडेंट्स फेडरेशन के अध्यक्ष रह चुके हैं. उन्होंने कहा कि नागा समुदाय को अपनी मानसिकता को बदलने की आवश्यकता है. उनका कहना था “हमारी गलतियों को सुधारें, पिछले गलत कामों के लिए एक-दूसरे को माफ करें और बाक़ी दुनिया के साथ आगे बढ़ें; तभी हम एक ताकत बन सकते हैं. ”

0
519

नागालैंड पीडब्ल्यूडी (आवास और यांत्रिक) मंत्री, तोंगपांग ओज़ुकुम ने ज़ोर दे कर कहा कि  नागा समुदाय का अस्तित्व अलग थलग रह कर नहीं हो सकता है. उन्होंने कहा कि नागा के वजूद को बनाए रखने के लिए सभी समुदायों के लोगों को शांतिपूर्वक सह-अस्तित्व की आवश्यकता है. 

इसलिए ज़रूरी है कि नागा समाज के भीतर और पड़ोसियों के साथ भी सम्मानजनक संबंध हों. 

ओगाकुम ने नागा सॉलिडैरिटी पार्क में नागा स्टूडेंट्स फेडरेशन (NSF) के 29 वें आम सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, “हमें एक सामंजस्यपूर्ण वातावरण बनाना चाहिए जहां सम्मान, लोकतंत्र, न्याय और शांति हमारे संबंधों की नींव के पत्थर हैं।”

ओजुकुम, नागा स्टूडेंट्स फेडरेशन के अध्यक्ष रह चुके हैं. उन्होंने कहा कि नागा समुदाय को अपनी मानसिकता को बदलने की आवश्यकता है. उनका कहना था  “हमारी गलतियों को सुधारें, पिछले गलत कामों के लिए एक-दूसरे को माफ करें और बाक़ी दुनिया के साथ आगे बढ़ें; तभी हम एक ताकत बन सकते हैं. ”

उन्होंने सभा को याद दिलाया कि एनएसएफ का गठन न तो ऐतिहासिक घटना के कारण हुआ और न ही कुछ छात्र नेताओं की दिमाग़ी उपज के कारण. ओज़ुकुम ने कहा कि यह शिक्षित नागा युवकों द्वारा लिया गया एक सोचा समझा  पूर्व-निर्धारित कदम है.

 जिन नागा नेताओं को लगा कि एक ऐसे नागा संगठन की ज़रूरत है जो सभी क्षेत्रों और लोगों का प्रतिनिधित्व कर सके. इस संगठन को बनाने का मक़सद नागा आकांक्षाओं को व्यक्त करना था.   

उन्होंने कहा कि NSF न केवल छात्रों के समुदाय के अभिभावक के रूप में कार्य करता है, बल्कि सभी मुद्दों पर एक दबाव समूह के रूप में और महत्वपूर्ण सार्वजनिक नीतियों के निर्माण में सकारात्मक योगदान देता है.

उन्होंने कहा, “महासंघ की स्थापना के बाद से, हम हमेशा सामाजिक-राजनीतिक गतिविधियों में सबसे आगे रहे हैं, जिससे नागा राजनीतिक आंदोलन में भी महत्वपूर्ण योगदान रहा है.”

ओगाकुम  ने नागा समाज के बारे में बात करते हुए कहा “हमारा नागा समाज बहुत ही कमज़ोर और बिखरा नज़र आता है. वास्तव में जो मुझे पीड़ा देता है, वह यह है कि, एक भी शीर्ष नागा संगठन नहीं है, जिसमें पूरे नागा समुदाय का प्रतिनिधित्व है. जिसके कारण, हमारी बात कोई नहीं सुनता है. हम आदिवासी समुदायों में बंटे हैं और अलग थलग रहते हैं.” 

नागा स्टूडेंट्स फेडरेशन नागालैंड के बड़े और प्रभावी संगठनों में से एक है. हाल ही में इस संगठन का सम्मेलन था, जिसमें नए नेतृत्व का चुनाव भी किया गया था. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here