तमिलनाडु: आनईकट्टी के आदिवासियों को कोविड वैक्सीन लगाने के लिए विशेष अभियान

आने वाले दिनों में इलाक़े के आदिवासी समुदायों के लिए ऐसे ही और कैंप आयोजित करने की भी योजना है. भविष्य में लगाए जाने वाले कैंपों के लिए ज़रूरत के हिसाब से वैक्सीन की पर्याप्त संख्या के लिए उच्च अधिकारियों से अनुरोध किया गया है.

0
198

तमिलनाडु के नीलगिरी पहाड़ों की तलहटी पर बसे आनईकट्टी इलाक़े में शनिवार को आदिवासी लोगों के लिए एक ख़ास कोविड वैक्सिनेशन कैंप आयोजित किया गया. स्वास्थ्य विभाग ने कोंडनूर और कोंडनूर पुडूर आदिवासी बस्तियों के लिए यह कैंप आयोजित किया था.

कोंडनूर के सरकारी मिडिल स्कूल में आयोजित इस कैंप में कुल 100 लोगों को वैक्सीन लगाया गया.

पेरियानैक्यनपालयम के ब्लॉक मेडिकल ऑफ़िसर आर शांता कुमारी ने मीडिया को बताया कि आनईकट्टी के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की मेडिकल टीम ने पिछले 10 दिनों में इलाक़े के आदिवासियों के बीच COVID-19 वैक्सीन लेने की ज़रूरत के बारे में जागरुकता पैदा की.

आने वाले दिनों में इलाक़े के आदिवासी समुदायों के लिए ऐसे ही और कैंप आयोजित करने की भी योजना है. भविष्य में लगाए जाने वाले कैंपों के लिए ज़रूरत के हिसाब से वैक्सीन की पर्याप्त संख्या के लिए उच्च अधिकारियों से अनुरोध किया गया है.

मेडिकल टीम ने पाया है कि आनईकट्टी के कुछ आदिवासियों में अभी भी वैक्सीन को लेकर हिचकिचाहट है, इसलिए उनके लिए और जागरुकता गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा.

हलांकि कैंप में यह भी देखा गया कि कुछ आदिवासियों की हिचकिचाहट के बावजूद कुछ प्रसवपूर्व औरतों ने वैक्सीन लगवाए.

इस पीएचसी के तहत आने वाली 14 आदिवासी बस्तियों में क़रीब 4500 लोग रहते हैं. मुख्य चिकित्सा अधिकारी पी. अजय के नेतृत्व में नौ सदस्यीय टीम ने अब तक क़रीब 1,000 लोगों को वैक्सीन लगा दिए हैं. इनमें से ज़्यादातर आदिवासी ही हैं.

आनईकट्टी के इलाक़े में आने वाली आदिवासी बस्तियों में 18 साल से ज़्यादा उम्र के 2,200 लोग हैं. इन सबको वैक्सीन लगाने के अभियान में इन्हें कोविड और वैक्सीन के बार जागरुक करना भी शामिल है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here